Karakamsa Planet In Astrology

Jamini astrology

	 

Karakamsa Lagna(कारकांश लग्न)

🪶🪶

 

कारकांश लग्न, जिसे कारकांश लग्न या आत्मकारक लग्न भी कहा जाता है, वैदिक ज्योतिष में एक महत्वपूर्ण अवधारणा है। यह नवांश चार्ट में आत्मकारक ग्रह की स्थिति से निकला है। नवांश चार्ट, जिसे D9 चार्ट के रूप में भी जाना जाता है, एक विभागीय चार्ट है जो किसी व्यक्ति के जीवन के आध्यात्मिक और वैवाहिक पहलुओं में अंतर्दृष्टि प्रदान करता है। कारकांश लग्न की गणना करने के लिए, आपको आत्मकारक ग्रह का निर्धारण करना होगा, जो आपकी जन्म कुंडली में उच्चतम अंश वाला ग्रह है। एक बार जब आप आत्मकारक ग्रह की पहचान कर लेते हैं, तो नवांश चार्ट में इसकी स्थिति का पता लगाएं। नवमांश कुंडली में आत्मकारक ग्रह जिस राशि में स्थित होता है वह कारकांश लग्न बन जाता है। कारकांश लग्न किसी व्यक्ति की आत्मा की इच्छाओं, आध्यात्मिक पथ और इस जीवनकाल में उसकी क्षमता के बारे में महत्वपूर्ण अंतर्दृष्टि प्रकट करता है। यह व्यक्ति के अस्तित्व के वास्तविक सार और उद्देश्य का प्रतिनिधित्व करता है। नवमांश चार्ट में कारकांश लग्न से घर, ग्रह और पहलू व्यक्ति के आध्यात्मिक विकास, संबंधों और समग्र जीवन के अनुभवों के बारे में अधिक जानकारी प्रदान करते हैं। कारकांश लग्न और नवमांश चार्ट में इसके संबंधित प्लेसमेंट का विश्लेषण करने से ज्योतिषियों को आत्मा की यात्रा, कर्म पैटर्न और किसी व्यक्ति के जीवन में विकास और पूर्ति के संभावित क्षेत्रों को समझने में मदद मिल सकती है। यह किसी के आध्यात्मिक पथ और आत्म-साक्षात्कार में गहरी अंतर्दृष्टि प्राप्त करने के लिए एक मूल्यवान उपकरण है।


Planets:As Karakamsa Lagna(कारकांश लग्न) 🪶🪶

 

कारकांश लग्न के रूप में सूर्य: जब सूर्य कारकांश लग्न बन जाता है, तो यह सुझाव देता है कि व्यक्ति की आध्यात्मिक यात्रा में आत्म-साक्षात्कार, व्यक्तिगत शक्ति और नेतृत्व शामिल हो सकता है। वे अपने वास्तविक सार और उद्देश्य पर प्रकाश डालने की कोशिश कर सकते हैं और आत्म-अभिव्यक्ति और पहचान के लिए प्रयास कर सकते हैं। कारकांश लग्न के रूप में चंद्रमा: जब चंद्रमा कारकांश लग्न बन जाता है, तो यह इंगित करता है कि व्यक्ति के आध्यात्मिक पथ में भावनात्मक विकास, पोषण और अंतर्ज्ञान शामिल हो सकता है। वे आंतरिक शांति और भावनात्मक पूर्ति की तलाश कर सकते हैं, और उनकी आध्यात्मिक यात्रा उनकी भावनाओं को समझने और उनका सम्मान करने से जुड़ी हो सकती है। कारकांश लग्न के रूप में मंगल: जब मंगल कारकांश लग्न बन जाता है, तो यह सुझाव देता है कि व्यक्ति की आध्यात्मिक यात्रा में कार्रवाई, साहस और आत्म-प्रेरणा शामिल हो सकती है। वे चुनौतियों पर काबू पाने की कोशिश कर सकते हैं, अपनी ऊर्जा को चैनल कर सकते हैं और अपनी आत्मा की इच्छाओं के अनुरूप अपने जुनून का पीछा कर सकते हैं। कारकांश लग्न के रूप में बुध: जब बुध कारकांश लग्न बन जाता है, तो यह इंगित करता है कि व्यक्ति के आध्यात्मिक पथ में संचार, ज्ञान और बुद्धि शामिल हो सकती है। वे ज्ञान प्राप्त करने की कोशिश कर सकते हैं, अपने मानसिक संकायों का विस्तार कर सकते हैं और अपने विचारों और विचारों को दुनिया तक पहुंचा सकते हैं। कारकांश लग्न के रूप में बृहस्पति: जब बृहस्पति कारकांश लग्न बन जाता है, तो यह सुझाव देता है कि व्यक्ति की आध्यात्मिक यात्रा में ज्ञान, ज्ञान और आध्यात्मिक विकास शामिल हो सकता है। वे उच्च सत्य, दार्शनिक समझ की तलाश कर सकते हैं और आध्यात्मिकता और मार्गदर्शन के प्रति उनका स्वाभाविक झुकाव हो सकता है। कारकांश लग्न के रूप में शुक्र: जब शुक्र कारकांश लग्न बन जाता है, तो यह इंगित करता है कि व्यक्ति के आध्यात्मिक पथ में प्रेम, सौंदर्य और सद्भाव शामिल हो सकते हैं। वे प्यार भरे रिश्तों को साधने की कोशिश कर सकते हैं, कला और सौंदर्यशास्त्र की सराहना कर सकते हैं और संबंध और संतुलन के माध्यम से आध्यात्मिक पूर्ति पा सकते हैं। कारकांश लग्न के रूप में शनि: जब शनि कारकांश लग्न बन जाता है, तो यह सुझाव देता है कि व्यक्ति की आध्यात्मिक यात्रा में अनुशासन, दृढ़ता और आत्म-परिवर्तन शामिल हो सकता है। वे सीमाओं पर काबू पाने की कोशिश कर सकते हैं, आंतरिक शक्ति विकसित कर सकते हैं और आत्म-निपुणता और आत्म-साक्षात्कार के माध्यम से आध्यात्मिक पूर्णता पा सकते हैं।


Karakamsa Lagna(कारकांश लग्न) different houses🪶🪶

Do you have Questions? Ask an Astrologer now

 

1st House: Karakamsa Ascendant in the 1st house indicates a strong focus on self-expression, personal identity, and individuality. The individual may have a strong sense of self and may strive for self-improvement and self-realization. 2nd House: Karakamsa Ascendant in the 2nd house suggests that the individual's spiritual path may be connected to wealth, family, or speech. They may have a natural talent for communication and may seek spiritual fulfillment through material resources and family relationships. 3rd House: Karakamsa Ascendant in the 3rd house indicates that the individual's spiritual journey may involve developing skills, seeking knowledge, and exploring various forms of communication. They may have a natural inclination towards spiritual studies and may seek spiritual growth through communication and sibling relationships. 4th House: Karakamsa Ascendant in the 4th house suggests that the individual's spiritual path may be connected to the home, family, and inner emotional security. They may have a deep longing for emotional fulfillment and may seek spiritual solace through a strong foundation and connection to their roots. 5th House: Karakamsa Ascendant in the 5th house indicates that the individual's spiritual journey may be related to creativity, children, and self-expression. They may have a natural talent for artistic pursuits and may seek spiritual growth through creative endeavors and the experience of joy and love. 6th House: Karakamsa Ascendant in the 6th house suggests that the individual's spiritual path may involve overcoming challenges, service to others, and healing. They may seek spiritual growth through selfless service, health-related activities, and overcoming obstacles. 7th House: Karakamsa Ascendant in the 7th house indicates that the individual's spiritual journey may be related to relationships, partnerships, and balance. They may seek spiritual growth through harmonious relationships, cooperation, and finding balance between self and others. 8th House: Karakamsa Ascendant in the 8th house suggests that the individual's spiritual path may involve transformation, occult knowledge, and deep introspection. They may seek spiritual growth through exploring the mysteries of life, inner healing, and transformation. 9th House: Karakamsa Ascendant in the 9th house indicates that the individual's spiritual journey may be connected to higher knowledge, spirituality, and philosophical pursuits. They may seek spiritual growth through seeking truth, higher education, and exploring different belief systems. 10th House: Karakamsa Ascendant in the 10th house suggests that the individual's spiritual path may be connected to their public image, career, and social status. They may seek spiritual growth through their professional endeavors and may strive for recognition and success in their chosen field. 11th House: Karakamsa Ascendant in the 11th house indicates that the individual's spiritual journey may involve social connections, friendships, and collective aspirations. They may seek spiritual growth through networking, group activities, and contributing to society. 12th House: Karakamsa Ascendant in the 12th house suggests that the individual's spiritual path may be connected to solitude, spirituality, and inner transformation. They may seek spiritual growth through meditation, retreats, and connecting with their inner self.


Disclaimer(DMCA guidelines)

Please note Vedic solutions,remedies,mantra & Planetry positions are mentioned by Ancient Sages in Veda and it is same everywhere hence no one have sole proprietorship on these.Any one free to use the content.We have compiled the contents from different Indian scripture, consisting of the Rig Veda, Sama Veda, Yajur Veda, and Atharva Veda, which codified the ideas and practices of Vedic religion and laid down the basis of classical Hinduism with the sources,books,websites and blogs so that everyone can know the vedic science. If you have any issues with the content on this website do let us write on care.jyotishgher@gmail.com.

Vedic Chalisha in Sanskrit | List of Chalisha

Strotam

Tulsi Stotra- तुलसी स्तोत्र

Surya Stotra-सूर्य स्तोत्र

Chandra Stotra-चन्द्र स्तोत्र

Vedic Strotam in Sanskrit | List of Strotam

Gemstones

Ruby stone | माणिक रत्न

पुखराज रत्‍न – Pukhraj Ratan

मूंगा रत्‍न – Moonga Ratna

Vedic Gemstone in Sanskrit | List of Gemstones