Stories From Vedas

Reach us Free

Inspiring stories from vedas

Do you have Questions? Ask an Astrologer now

	 

अंगूठे की आकृति एवं बनावट से जातक का फलादेश

Detail🪶🪶

 

किसी व्यक्ति का अंगूठा जब उधर्व आधारित अर्थात् सामान्य स्थिति में ऊपर उठा हो, तो ऐसे व्यक्ति में स्वतंत्रता की कमी व गुलाम मनोवृत्ति होती है एवं ऐसा व्यक्ति स्वार्थी प्रवृत्ति का होता है एवं उसका जीवन के प्रति दृष्टिकोण संकुचित होता है। किसी व्यक्ति का अंगूठा जब निम्न आधारित हो अथवा कुछ सामान्य से नीचे की ओर हो तो यह सम्बंधित व्यक्ति के स्वतंत्रता एवं उदारता के प्रति जन्मजात प्रेम की ओर संकेत करता है। ऐसे व्यक्ति अपने जीवन में आने वाली बाधाओं से नहीं घबराते बल्कि धीरता से उनका सामना करते हैं। स्वतंत्रता एवं दुःखी अथवा सताए हुए व्यक्तियों की लड़ाई लड़ने के लिए ऐसे व्यक्ति सदैव तत्पर व तैयार रहते हैं। ये व्यक्ति प्रकृति से ही दानी एवं उदार होते हैं। जिन व्यक्तियों का अंगूठा लम्बा होता है ऐसे व्यक्ति शक्तिशाली व्यक्तित्व के स्वामी होते हैं। ऐसे व्यक्ति तीव्र इच्छा शक्ति युक्त, न्यायप्रिय एवं अपने लक्ष्यों व उद्देश्यों को पाने के लिए दृढ़ संकल्पित होते हैं। ऐसे व्यक्ति में विशेषज्ञता, नाम और प्रसिद्धि पाने की लालसा रहती है। ऐसे व्यक्तियों में जन्मजात नेतृत्व क्षमता होती है, मसले चाहे व्यापारिक हो या राजनैतिक, आर्थिक हों अथवा सामाजिक अथवा चाहे वैज्ञानिक मसले हों, ये सर्वत्र नेतृत्व करते हैं। जिन व्यक्तियों का अंगूठा छोटा होता है ऐसे व्यक्ति शरीर एवं मस्तिष्क से बौने होते है। ऐसे व्यक्ति की इच्छा शक्ति एवं तर्क शक्ति अविकसित व क्षीण होती हैं। ऐसे व्यक्तियों का जीवन के प्रति दृष्टिकोण बहुत अच्छा नहीं होता है। ऐसे व्यक्तियों की प्रवृत्ति नियति के हाथ का खिलौना बने रहने की होती है। जिन व्यक्तियों का अंगूठा एकदम सीधा होता है ऐसे व्यक्ति सही दिमाग एवं सही विचार शक्ति के गुणों से विधमान होते हैं। ऐसे व्यक्तियों में दृढ़ इच्छा शक्ति एवं प्रतिकार की भी प्रबल क्षमता विकसित होती है। ऐसे व्यक्ति दृढ़ विचारों वाले होते हैं तथा जल्दी से झुकते नहीं है। ऐसे व्यक्ति विश्वसनीय मित्र एवं साथी सिद्ध हो सकते हैं। ऐसे व्यक्ति स्पष्टवादी एवं साफ शुद्ध दृष्टि वाले होते है। ये सन्तुलित जीवन जीते है; व स्वच्छ सलाहों को अपनाने के लिए सदैव तत्पर रहते हैं। जिन व्यक्तियों का अंगूठा मुड़ा हुआ होता है ऐसे व्यक्ति आवेगपूर्ण होने के साथ साथ जन्मजात चिड़चिड़ेपन से भी ग्रस्त होते है। ऐसे व्यक्ति अपनी योग्यता को कार्य रूप देने एवं उस पर अमल करने में सक्षम होते हैं। ऐसा व्यक्ति आकर्षक व्यक्तित्व एवं अच्छी प्रवृत्ति वाले होते हैं। जिन व्यक्तियों का अंगूठा स्थूल आकार लिए होता है ऐसे व्यक्ति अपने हक के लिए लड़ने की दृढ़ता लिए एवं पक्के इरादे वाले होते है। स्थूल आकार लिए अंगूठा जब फूला हुआ सा प्रतीत हो तो सम्बन्धित व्यक्ति पर पाशविक प्रवृत्तियों का प्रभुत्व होता है। ऐसा व्यक्ति क्रूर विचारों वाला होगा एवं उसकी प्रवृत्ति भी हिंसक होंगी। जिन व्यक्तियों के अँगूठे का दूसरा पोर तंग हो एवं उसकी आकृति कमर के समान बनती हो तो इस आकृति का अंगूठा जिस व्यक्ति का होगा, वह व्यक्ति धोखा धड़ी, युद्ध कौशल एवं कूटचालों में माहिर होगा। ऐसे व्यक्ति को किसी भी निर्णय के लिए विवश नहीं किया जा सकता। ऐसा व्यक्ति शीघ्रता से अपने निर्णयों को बदलता रहता है। ऐसा व्यक्ति झूठे वायदे करता है और उन्हें पूरा करने में हिचकिचाता है।



🧨🧨🧨🧨🧨
🧨🧨🧨🧨🧨

Explore Navagraha Mantras

Explore Chalisha

FAQ